Join The Army

Join Us
Join the army of Lord Sri Chaitanya Mahaprabhu.

New Bhakta Program
(भक्त बने)

1

Three Days On Home Training Program

This Program is for family, Join us along with your family and enjoy the Bhakti Sadhna.
2

One Week Training Program

ISKCON One Week training program which deepens devotees, understanding of guru tattva and guru padasraya within the multiple guru environment of ISKCON.
3

Three Months Training Program

New devotees preparing to take initiation in ISKCON, the course is also recommended for leaders, preachers, councilors and educators in ISKCON.
4

Six Months Training Program

course is based on the teachings of Srila Prabhupada and current ISKCON Law and references the writings of the broader Gaudiya Vaisnava tradition.
5

One Year Training Program

The 14 lessons include Powerpoint presentations, interactive workshops, forums, quizzes and assessment exercises.
Hare Krishna
Follow the footsteps

About Iskcon Journey

हम यह कैसे समझें की एक प्रमाणिक भक्त कौन है, एक प्रमाणिक संस्था कौन है और एक प्रमाणिक आन्दोलन (जिससे वर्त्तमान अशुभ/परेशान जीवन में परिवर्तन लाया जाये ) क्या है ?

हरे कृष्ण ! वास्तव में ज्ञान दो प्रकार के होते हैं , एक सापेक्षिक और दूसरा पूर्ण/परम | सापेक्षिक ज्ञान वो है जो की कोई भी व्यक्ति अपनी सिमित क्षमता के अनुसार जीवन में अनुभव के द्वारा / प्रयोग के द्वारा ग्रहण करता हैं, परन्तु यह ज्ञान एक देश , काल तथा परिस्थिति के लिए हिं सही होता है | उदाहरण के लिए एक वैज्ञानिक प्रयोग के द्वारा यह समझा गया की अनु जो होता है वह अविभाजित होता है किन्तु अगले कुछ समय में यह सिद्ध हो गया की नहीं इसका विभाजन भी संभव है | उसी प्रकार ऐसी कई प्रकार के ज्ञान और अनुभव हैं जो की कोई सामान्य व्यक्ति अपने जीवन में कर सकता है लेकिन ये सभी सापेक्षिक ज्ञान हैं और पूर्ण नहीं हैं, लेकिन जो ज्ञान हम प्रमाणिक शास्त्रों के माध्यम से प्राप्त करते हैं वो पूर्ण होता है और सभी प्रकार के देश ,काल तथा परिस्थिति में लागू होता है | जैसे शास्त्रों में यह कहा गया है की गाय का गोबर और मूत्र पवित्र है तो हम अपने आधुनिक ज्ञान से समझ पाते हैं की यह सही है, उसी प्रकार जैसे पेड़ों में जीवन होता है , माँ के गर्भ में जो बच्चा होता है उसमे जीवन होता है इस प्रकार की कई सारी  बातें शास्त्रों में बताई गयी हैं और वे पूर्ण रूप से सही हैं | यह अलग बात हैं की कुछ समय के लोगों ने इसको स्वीकार नहीं किया क्यूंकि उनके पास पर्याप्त प्रायोगिक अनुभव नहीं थे इसको समझने के लिए , या उन्होंने किसी प्रमाणिक व्यक्ति के माध्यम से सिखने का प्रयास नहीं किया |

तो जिस प्रकार से इस संसार के विषय में शास्त्रों की सारी बातें सही हैं , उसी प्रकार से शास्त्रों में भगवान के विषय में भी पक्की जानकारी मिलती हैं | जैसे श्रीमद भागवतम , जो की 5000 साल पुराना साहित्य हैं हमें बताता है की भविष्य में कोन कोन से महत्वपूर्ण व्यक्ति प्रकट होने वाले हैं और भगवान के कौन कौन से अवतार होने वाले हैं, जैसे भगवान बुद्ध, चाणक्य पंडित , चन्द्रगुप्त मौर्य, श्री चैतन्य महाप्रभु एवं कई सरे अलवार भक्त गण | प्रमाणिक संप्रदाय के चार प्रमुख्य आचार्यों जैसे रामानुजाचार्य , मध्वाचार्य , विष्णुस्वामी तथा निम्बार्काचार्य के विषय में हमें पद्म पुराण से पता चलता है |

ठीक उसी प्रकार से ये जो हरे कृष्ण आन्दोलन है इसका प्रमाण निम्नलिखित शास्त्रों में दिया गया है 

Join Us
Join the army of Lord Sri Chaitanya Mahaprabhu.

Online Registration

Please upload your Picture

No products in the cart.